वैज्ञानिक यंत्र एवं उनके उपयोग – Scientific instruments and their uses in Hindi

Scientific instruments and their uses in Hindi

Friends, today we are going to get information about major scientific instruments and their uses. In which today we will understand in detail.

प्रमुख वैज्ञानिक यंत्र (Scientific instruments and their uses in Hindi)

प्रमुख वैज्ञानिक यंत्र (Scientific instruments and their uses in Hindi)
प्रमुख वैज्ञानिक यंत्र (Scientific instruments and their uses in Hindi)
  1. आल्टीमीटर – वायुयानों की ऊँचाई मापन में प्रयुक्त।
  2. ऐमीटर – विद्युत धारा के मापन में प्रयुक्त।
  3. ऑडियोमीटर – ध्वनि तीव्रता मापन में प्रयुक्त।
  4. एयरोमीटर – वायु व गैसों के घनत्व का मापक।
  5. ऐक्टीनोमीटर – विद्युत चुम्बकीय विकिरण की तीव्रता मापन में।
  6. ऐक्युमुलेटर – विद्युत ऊर्जा उत्पन्न करने का प्प् सेल अथवा बैटरी।
  7. ऐस्ट्रोमीटर – तारों के प्रकाश की तीव्रता मापने वाला यंत्र।
  8. ऑडियोफोन – सुनने में सहायक।
  9. बेरोग्राफ – वायुमंडल के दाब के परिवर्तन मापने में प्रयुक्त।
  10. बाइनोकुलर्स – दूर की वस्तुओं को स्पष्ट देखने में प्रयुक्त।
  11. बैरोमीटर – वायुदाब मापक यंत्र।
  12. बोलोमीटर – उष्मीय विकिरण मापक यंत्र।
  13. कैलीपर्स – बेलनाकार वस्तुओं के अन्तर व बाहर के व्यास मापन के लिए प्रयुक्त यंत्र।
  14. कैलोरीमीटर – ऊष्मा की मात्रा का मापक यंत्र।
  15. कार्डियोग्राम – हृदय गति जाँच यंत्र।
  16. कम्पास नीडल – इस यंत्र से किसी स्थान पर उत्तर-दक्षिण दिशा का ज्ञान होता है।
  17. कारबुरेटर – वाहनों में पेट्रोल व हवा का मिश्रण बनाने वाला यंत्र।
  18. क्रोनोमीटर – सही समय बताने के लिए जहाजों पर लगाया जाने वाला यंत्र है।
  19. क्रेस्कोग्राफ – पौधों की वृद्धि नापने का यंत्र।
  20. साइक्लोस्ट्राॅन – आवेशित कणों को त्वरित करने वाला यंत्र।
  21. कलरीमीटर – रंगों की गहनता का मापन करने वाला यंत्र।
  22. कम्प्युटेटर – किसी परिपथ में विद्युत धारा की दिशा बदलने वाला यंत्र।
  23. कायमोग्राफ – रूधिर दाब के ग्राफ को चित्रित करने वाला यंत्र।
  24. साइटोट्रोन – कृत्रिम मौसम उत्पन्न करने में कार्य आने वाला यंत्र।
  25. विस्कोमीटर – द्रवों की श्यानता ज्ञात करने हेतु प्रयोग में आने वाला यंत्र।
  26. वैक्युम क्लीनर – जमी धूल साफ करने का यंत्र।
  27. स्पिगमोफोन – इसकी सहायता से नाड़ी की गति की आवाज सुनते है।
  28. सेफ्टी लेम्प – प्रकााा के लिए श्रमिकों द्वारा खानों में प्रयुक्त किया जाने वाला उपकरण।
  29. स्टेथेस्कोप – हृदय की धड़कन का जाँचयंत्र।
  30. स्पिगमोस्कोप – नाड़ी के गति के कम्पन का अध्ययन करने वाला यंत्र।
  31. रेनगेज (यूडोमीटर) – वर्षामापी यंत्र।
  32. फोनोग्राफ – ध्वनि लेखन कार्य उपयोगी यंत्र।
  33. स्क्रूगेज – बारीक तारों के व्यास का मापक यंत्र।
  34. हाइग्रोमीटर – आर्द्रता मापक यंत्र।
  35. हाइड्रोमीटर – द्रवों के आपेक्षिक घनत्व मापक यंत्र।
  36. गाइरोस्कोप – घूमती हुई वस्तुओं की गति ज्ञात करने का यंत्र।
  37. स्पीडोमीटर – वाहनों की गति को प्रदर्शित करने वाला यंत्र।
  38. ग्रेंवीमीटर – पानी की सतह पर तेल की उपस्थिति ज्ञात करने का यंत्र।
  39. माइक्रोस्कोप – सूक्ष्मदर्शी यंत्र।
  40. मेनोमीटर – गैसों के दाब को ज्ञात करने के काम आने वाला यंत्र।
  41. माइक्रोफोन – ध्वनि तरंगों का विद्युत तरंगों में परिवर्तित करने वाला यंत्र।
  42. फैदोमीटर – समुद्र की गहराई मापने का यंत्र।
  43. गैल्वनोमीटर – छोटे विद्युत परिपथों में विद्युत धारा दिशा व मात्रा ज्ञात करने का यंत्र।
  44. गाइगर मूलर – इस यंत्र की रेडियो एक्टिव स्त्रोत काउण्टर के विकिरण की गणना की जाती है।
  45. एपीडायस्कोप – चित्रों को पर्दे पर प्रक्षेपित करने वाला यंत्र।
  46. हाइड्रोफोन – जल के भीतर ध्वनि तरंगों की गणना करने में इसका प्रयोग करते है।
  47. लैक्टोमीटर – दूध की शुद्धता की जाँच करने वाला यंत्र।
  48. पेरीस्कोप – इस यंत्र की सहायता से पानी में डूबे हुए ही पानी के ऊपरी दृश्य को देखा जा सकता है।
  49. पायरोमीटर – दूर स्थित उच्चतापीय वस्तुओं का तापमापी यंत्र।
  50. रिफ्रेक्टोमीटर – पारदर्शक माध्यमों का अपवर्तनांक ज्ञात करने वाला यंत्र।
  51. सिस्मोग्राफ – भूकम्प की तीव्रता का पता लगाने वाला यंत्र।
  52. सेक्सटेण्ट – पर्वत, टाॅवर, मीनार आदि की ऊँचाई को एवं नदियों के किनारों के मध्य दूरी मापने वाला यंत्र।
  53. स्ट्रोबोस्कोप – इस यंत्र के माध्यम से आवर्तित गति से घूमने वाली वस्तुओं की चाल ज्ञात की जाती है।
  54. एक्टिओमीटर – सूर्य किरणों की तीव्रता का निर्धारण करने वाला यंत्र।
  55. रैकोमीटर – वायुयानों व नावों की गति को मापने वाला यंत्र।
  56. एनिमोमीटर – हवा की शक्ति व गति को मापने वाला यंत्र।
  57. स्फोरोमीटर – इससे गोलीय तल की वक्रता की त्रिज्या ज्ञात की जाती है।
  58. मेग्नोमीटर – विभिन्न चुम्बकीय आघूर्णों एवं चुम्बकीय क्षेत्रों की तुलना करने के लिये प्रयुक्त होने वाला यंत्र।
  59. माइक्रोमीटर – अति अल्प व्यासों व मोटाइयों को मापने वाला यंत्र।
  60. ओडोमीटर – मोटर गाड़ी की दूरी का मापन करने वाला यंत्र।
  61. पोलीग्राफ – इस यंत्र का प्रयोग झूठ का पता लगाने के लिए लाई-डिटेक्टर के रूप में करत है।
  62. पाइकनोमीटर – द्रवों के घनत्व व प्रसार गुणांक का मापक यंत्र।
  63. स्पेक्ट्रोमीटर – स्पेक्ट्रमों के अध्ययन व विभिन्न रंगों की तरंगदैध्र्य को मापने वाला यंत्र है।
  64. स्फिग्नोमैनोमीटर – मानव की धमनियों में बहने वाले रक्त के दाब का मापक यंत्र।
  65. स्फिग्मोफोन – इस उपकरण की सहायता से नाड़ी धड़कन को तेज ध्वनि से सुना जा सकता है।
  66. स्टीरियोस्कोप – इस वाइनोकुलर की सहायता से द्विविमीय चित्र को भली भांति देख सकते है।
  67. टैकोमीटर – शाफ्ट की घूर्णन गति मापने का यंत्र है।
  68. टेलीमीटर – दूर स्थानों पर होने वाली भौतिक घटनाओं को रिकार्ड करने वाला यंत्र है।
  69. टैकियोमीटर – सर्वेक्षण के समय दूरी, उन्नयन आदि का मापक यंत्र।
  70. टोनोमीटर – ध्वनि की तारत्वता या आवृत्ति।
  71. वेंचुरीमीटर – द्रव की प्रवाह दर ज्ञात करने का यंत्र।
  72. वोल्टमीटर – किन्ही दो बिन्दुओं के बीच विद्युत विभवान्तर ज्ञात करने का यंत्र।
  73. वेब मीटर – किसी रेडियो तरंग की तरंगदैध्र्य मापने वाला यंत्र।
  74. हिप्सोमीटर – द्रवों का क्वथनांक ज्ञात करने वाला यंत्र।
  75. S.L.V. – इसके द्वारा अन्तरिक्ष में उपग्रह प्रक्षेपित किये जाते है।
  76. डायलेसिस – गुर्दे खराब होने की स्थिति में रक्तशोधन करने वाला यंत्र।
  77. एस्केलेटर – चलती हुई सीढ़ी जो लोगों को ऊपर/नीचे ले जाने का कार्य करती है।
  78. पेसमेकर – हृदय गति नियमित करने के लिए उगाया जाने वाला यंत्र।
  79. पिपेट – इसकी सहायता से द्रव की मापी गई मात्रा दूसरे बर्तन में डाली जा सकती है।
  80. साइक्लोट्राॅन – आवेश को त्वरित गति प्रदान करता है।

Read More :

मानव नेत्र की संरचना – Structure of Human Eye in Hindi

List of Satellites Launched by India in Hindi – कृत्रिम उपग्रह

रेखा एवं कोण – Line and Angle in Hindi

अम्लीय वर्षा – Acid Rain in Hindi | अम्ल वर्षा के कारण : प्रभाव एवं रोकथाम

राजस्थान प्रदेश की भू-संरचना

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top